अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला : कोरोना का खतरा बताकर क्रिश्चियन मिशेल ने मांगी जमानत

नई दिल्लीः अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले के आरोपित क्रिश्चियन मिशेल ने दिल्ली हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है। याचिका में मिशेल ने कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को जमानत का आधार बनाया है। मिशेल ने अपनी याचिका में कहा है कि उसका स्वास्थ्य पहले से ही खराब है।

कोर्ट ने 07 सितम्बर,2019 को मिशेल की जमानत याचिका खारिज कर दी थी। 04 अप्रैल,2019 को ईडी ने मिशेल के खिलाफ पूरक आरोपपत्र दायर किया था। ईडी ने आरोपपत्र में मिशेल की कंपनी के पार्टनर डेविड साइम्स को आरोपित बनाया है। ईडी ने मिशेल की कंपनी ग्लोबल सर्विसेज एफईजेड और ग्लोबल ट्रेडर्स को भी आरोपित बनाया है।

मिशेल और साइम्स इन दोनों कंपनियों के डायरेक्टर हैं। इस चार्जशीट पर कोर्ट संज्ञान ले चुकी है। कोर्ट 22 दिसम्बर,2018 को भी मिशेल की जमानत याचिका खारिज कर चुकी है। मिशेल को प्रत्यर्पण से लाने के बाद 04 दिसम्बर,2018 की रात में ही सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया था। सीबीआई ने कहा था कि अगस्ता घोटाले की करीब तीन हजार करोड़ रुपये की रकम दुबई के दो खातों में ट्रांसफर किए गए।

इस मामले का एक आरोपित राजीव सक्सेना सरकारी गवाह बन चुका है। सरकारी गवाह बनने के कोर्ट के आदेश को निरस्त करने के लिए सीबीआई ने कोर्ट में याचिका दायर की है। इस मामले में पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी, उनके भतीजे संजीव त्यागी और वकील गौतम खेतान को भी आरोपित बनाया गया है।