गडकरी ने गिनाए एलएनजी के फायदे, लोगों से की ये अपील

नई दिल्लीः ट्राफिक लगने से होने वाले वायू प्रदूषण और डीजल की बचत के लिए केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को कहा कि लंबी दूरी के परिवहन के लिए ईंधन के रूप में तरल प्राकृतिक गैस (एलएनजी) को प्राथमिकता देने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि एलएनजी इस्तेमाल करने से डीजल की तुलना में 40-50 प्रतिशत की बचत होगी।

केंद्रीय मंत्री ने आज फिक्की द्वारा आयोजित 'भारत में कम कार्बन और टिकाऊ गतिशीलता के रोडमैप' सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने भारत में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए उद्योग जगत से निवेश की अपील करते हुए कहा कि अब तक जितना पीपी निवेश होना चाहिए था उतना नहीं हुआ है।

गडकरी ने कहा कि ट्रैफिक जाम और प्रदूषण की समस्याओं से निपटने के लिए देशभर में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है लेकिन यह स्थायी समाधान नहीं हैं। उन्होंने पेट्रोल और डीजल के बजाये इलेक्ट्रिक वाहन, सीएनजी और एलएनजी की वकालत करते हुए कहा कि वह सड़क मंत्री होने के बावजूद पहली प्राथमिकता जलमार्ग (वाटरवे) को देते हैं। इसके बाद रेल और तीसरे स्थान पर सड़क और फिर चौथे स्थान विमानन को देते हैं।

उन्होंने उद्योग जगत को आर्थिक रूप से व्यवहार्य प्रौद्योगिकियों और वैकल्पिक ईंधन समाधान पर ध्यान केंद्रित करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि ईंधन से लेकर तकनीक तक और सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) से लेकर इकोलॉजी एनवायरमेंट क्लीयरेंस तक उद्योग जगत को एक-एक सेक्टर में 25 साल आगे की सोच रखते हुए एक पॉलिसी बनानी होगी।