कोरोना संकटः स्प्रे सैनिटाइजर से रहें सतर्क, छीन सकता है आंखों की रोशनी

लखनऊः आपके घर गली और सड़कों को कीटाणु मुक्त करने वाला स्प्रे सैनिटाइजर आपकी आंखों को भारी नुकसान पहुंचा रहा है। अगर समय पर उपचार ना हुआ तो आंखों की रोशनी भी छीन सकता है। यह बात रविवार को रामगढ़ के प्रसिद्ध आई स्पेशलिस्ट डॉ राजीव गुप्ता ने कही। डॉ राजीव गुप्ता रिम्स में नेत्र विभाग के प्राध्यापक भी हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगातार स्प्रे सैनिटाइजर का प्रयोग किया जा रहा है। यह अब आम बात हो गई है। गली, मोहल्ले, गांव, शहर, अस्पताल, रेलवे स्टेशन, सब्जी मंडी और सार्वजनिक स्थलों पर स्प्रे सैनिटाइजर का प्रयोग किया जा रहा है। लेकिन जो लोग इस स्प्रे का प्रयोग कर रहे हैं और जो इनके संपर्क में आ रहे हैं।

उनकी आंखों में परेशानी होने लगी है। ऐसे लोग अपनी आंखों में जलन, दर्द, लाली पन, आंख से पानी गिरना जैसी शिकायतें लेकर आ रहे हैं। कई बार दुर्घटनावस लोगों की आंखों में यह स्प्रे चला जा रहा है। डॉ राजीव ने बताया कि जांच के बाद पता चला कि स्प्रे में इस्तेमाल होने वाला केमिकल आंख की ऊपरी परत की झिल्ली पर बुरा प्रभाव डाल रहा है।

इसकी वजह से झिल्ली शुष्क हो जाती है, और कॉर्निया पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। उन्होंने लोगों को इस बात के लिए आगाह किया है कि ऐसी समस्या आने पर तत्काल उपचार कराएं। अन्यथा यह आपकी आंखों की रोशनी भी छीन सकता है। डॉ राजीव गुप्ता ने कहा कि अगर किसी की आंख में स्प्रे सैनिटाइजर के छींटे पड़ते हैं, तो तत्काल उसे ठंडे पानी से अपने दोनों आंखों को धोना चाहिए।

यह तब तक करना चाहिए, जब तक जलन शांत ना हो। अभी कोरोना वायरस आंखों से भी आपके शरीर पर हमला कर सकता है। इस वजह से वर्तमान समय में घरों में मौजूद लोग भी सुबह शाम ठंडे पानी से आंख जरूर धोएं।