भारत में अपनाए जाएंगे आईसीसी के नियम, इस तरह होगा क्रिकेट

लखनऊः कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में है और इसी के चलते सभी प्रकार के खेल रुके हुए हैं। जब भी क्रिकेट खेल शुरु होगा तो आईसीसी के नियमों के तहत ही खेला जाएगा। रही बात गेंद में थूक न लगाने की तो यह सभी के लिए लागू होगा। ऐसे में ज्यादा परेशान होने की जरुरत नहीं है। यह बातें गुरुवार को कानपुर में अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने कही। 

चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव इन दिनों कोरोना संक्रमण को लेकर अपने जनपद कानपुर नगर में हैं। यहां पर वह जरुरतमंदों को राहत सामग्री भी कई बार बांटते नजर आये। इसके बाद बुधवार को अपने कोच कपिल पाण्डेय के साथ कैंट इलाके के रोवर्स ग्राउंड पहुंचे और साथियों के साथ जमकर अभ्यास किया। साथियों ने भी अपने बीच पाकर स्टार के साथ खेल का लुत्फ उठाया। कुलदीप ने कहा कि जब देश के लिए खेलना तो सपने के समान होता है और उसमें हर संभव कोशिश की जाती है कि देशवासियों के उम्मीदों पर खरा उतरे, लेकिन घरेलू मैदान में अपने साथियों के साथ खेलने का लुत्फ ही कुछ अलग रहता है।

कुलदीप से जब पूछा गया कि अब आईसीसी कोरोना के चलते गेंद पर थूक लगाने में प्रतिबंध पर विचार कर रहा है तो ऐसे में गेंद सही से स्विंग नहीं हो पाएगी। इस पर कहा कि आगे जब भी खेल होंगे तो आईसीसी के नियमों के तहत ही होंगे, रही बात गेंद पर थूक न लगाने की तो सभी के लिए लागू होगा और उसी के अनुसार देश के लिए बेहतर प्रदर्शन किया जाएगा।

कुलदीप के कोच कपिल पाण्डेय ने कहा कि कुलदीप जब भी कानपुर आता है तो अपने साथियों के संग जरुर खेलता है। जब उनसे पूछा गया कि कुलदीप को आपने कैसे निखारा, इस पर उन्होंने कहा कि जब पहली बार कुलदीप उनके पास आये थे तो वो तेज गेंदबाज बनना चाहते थे लेकिन उन्होंने कुलदीप के अंदर कुछ और देखा और उसे निखारा जिसके बाद आज कुलदीप चाइनामैन बॉलर के रूप में जाने जा रहे हैं। गौरतलब है कि कपिल पाण्डेय कुलदीप को 2004 से कोचिंग दे रहे हैं।