भारत उपग्रह-भेदी क्षमता हासिल कर बना अंतरिक्ष महाशक्ति : मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को देश की जनता को सम्बोधित करते हुए कहा की भारत उपग्रह-भेदी क्षमता हासिल कर चौथा अंतरिक्ष महाशक्ति बन गया है। उन्होंने इसे सभी देशवासियों के लिए गर्व का क्षण बताया। देश के नाम अपने संबोधन में प्रधान मंत्री ने कहा, "हमारे वैज्ञानिकों ने पृथ्वी की निचली कक्षा में 300 किलीमीटर दूर एक उपग्रह को नष्ट कर दिया।"

उन्होंने कहा, "ए-सैट ने पूर्व निर्धारित लक्ष्य सिर्फ तीन मिनट में नष्ट कर दिया। इसके साथ ही भारत ने खुद को अंतरिक्ष महाशक्ति के तौर पर स्थापित कर दिया। 'मिशन शक्ति' कठिन अभियान था, लेकिन यह बहुत बड़ी सफलता है। अभियान में जटिल अंतरिक्ष कुशलताओं का उपयोग किया गया।

उन्होंने आगे कहा कि अभी तक यह तकनीक सिर्फ अमेरिका, चीन और रूस के पास थी। मिशन में किसी अंतर्राष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन नहीं किया गया। देश के लिए यह गर्व का क्षण है। हमारे वैज्ञानिकों ने यह कर दिखाया। प्रधानमंत्री ने  कहा, "यह नई तकनीक किसी के खिलाफ नहीं है। यह सिर्फ देश के विकास के लिए है। हम यह सिर्फ अपनी सुरक्षा और रक्षा के लिए कर रहे हैं। हमारा लक्ष्य शांति कायम रखना है, न कि युद्ध जैसे हालात बनाना।"