आईटीसी के चेयरमैन बने संजीव पुरी

कोलकाता: प्रमुख एफएमसीजी कंपनी आईटीसी लिमिटेड ने सोमवार को कहा कि इसके निदेशक मंडल ने कंपनी के प्रबंध निदेशक संजीव पुरी को तत्काल प्रभाव से अपना चेयरमैन नियुक्त किया है। कंपनी ने वाई. सी. देवेश्वर के निधन के बाद उनकी नियुक्ति की है। देवेश्वर विविध व्यवसायों वाले इस समूह के चेयरमैन व गैर कार्यकारी निदेशक थे। 

आईटीसी ने एक नियामक दाखिले में कहा, "कंपनी के निदेशक मंडल की आज (सोमवार) को हुई बैठक में प्रबंध निदेशक संजीव पुरी को कंपनी का चेयरमैन नियुक्त किया गया, जो 13 मई 2019 से प्रभावी है। इसके परिणामस्वरूप पुरी का नया पद चेयरमैन व कंपनी प्रबंध निदेशक का है।" पुरी कंपनी के निदेशक मंडल में 2015 से हैं और उन्हें मुख्य कार्यकारी अधिकारी के तौर पर फरवरी 2017 में नियुक्त किया गया। वह समूह के नेतृत्व का स्वतंत्र प्रभार संभाल रहे थे।

पुरी ने एक बयान में कहा, "कंपनी का चेयमैन नियुक्त किया जाना एक सम्मान और विशेषाधिकार है। यह एक ऐसी जिम्मेदारी है जिसे मैं विनम्रता के साथ स्वीकार करता हूं और सालों से पोषित उत्कृष्ट विरासत को आगे ले जाने व इसे मजबूत करने और आईटीसी के राष्ट्र प्रथम की प्रतिबद्धता का समर्थन करते हुए सभी व्यावसायिक क्षेत्रों में कंपनी की नेतृत्वकारी भूमिका का संकल्प लेता हूं।"

पुरी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर और व्हार्टन स्कूल ऑफ बिजनेस के पूर्व छात्र हैं। उन्होंने जुलाई 2016 से कंपनी के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर (सीओओ) के रूप में भी काम किया है। देवेश्वर कंपनी के सबसे लंबे समय तक सेवा देने वाले कॉरपोरेट प्रमुख रहे। उनका निधन शनिवार को हो गया। वह 72 साल के थे। वह पहली बार अप्रैल 1984 में कार्यकारी निदेशक नियुक्त किए गए थे और 1996 में चेयरमैन बने थे।