कोरोनाः यूपी में 24 घंटे में सामने आए 246 मामले, देखें पूरा हाल

लखनऊः प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या अब 2,820 हो गई है। वहीं अब तक 4,062 लोग इलाज के बाद पूरी तरह ठीक होने के बाद घर भेजे जा चुके हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 246 नये मामले सामने आए हैं। अब तक प्रदेश में इस वायरस से कुल 189 मौतें हुई हैं।

बुधवार को कुल 7,923 कोरोना नमूनों की हुई जांच

प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद ने गुरुवार को बताया कि राज्य में इस समय 2,948 लोग आइसोलेशन वार्ड में और 8,454 लोग फैसिलिटी क्वारंटाइन में हैं। फैसिलिटी क्वारंटाइन में उन लोगों को रखा गया है जो कि कोरोना संक्रमितों के सम्पर्क में रहे हैं। हॉटस्पॉट में होने के कारण उनमें लक्षण नजर आये या जिनमें संक्रमण की सम्भावना होती है। उन्होंने बताया कि बुधवार को 7,923 कोरोना नमूनों की जांच की गई। इससे पहले मंगलवार को 7,407, सोमवार को 7,725 और रविवार को कुल 7,314 कोरोना नमूनों की जांच की गई।

649 पूल के जरिए विभिन्न नमूनों की हुई जांच

उन्होंने बताया कि बुधवार को 649 पूल के जरिए विभिन्न नमूनों की जांच की गई। इनमें 567 पूल के जरिए प्रति पूल पांच-पांच नमूनों की जांच की गई। वहीं 82 पूल के जरिए प्रति पूल दस-दस नमूनों की जांच की गई।

इससे पहले मंगलवार को 676 पूल के जरिए विभिन्न नमूनों की जांच की गई। इनमें 589 पूल के जरिए प्रति पूल पांच-पांच नमूनों की जांच की गई। वहीं 87 पूल के जरिए प्रति पूल दस-दस नमूनों की जांच की गई। सोमवार को 865 पूल के जरिए विभिन्न नमूनों की जांच की गई। इनमें 775 पूल के जरिए प्रति पूल पांच-पांच नमूनों की जांच की गई। वहीं 90 पूल के जरिए प्रति पूल दस-दस नमूनों की जांच की गई। रविवार को 936 पूल के जरिए विभिन्न नमूनों की जांच की गई। इनमें 736 पूल के जरिए प्रति पूल पांच-पांच नमूनों की जांच की गई। वहीं 200 पूल के जरिए प्रति पूल दस-दस नमूनों की जांच की गई। 

आरोग्य सेतु एप को लेकर 38,054 लोगों को कन्ट्रोल रूम से फोन

उन्होंने बताया कि प्रदेश में 'आरोग्य सेतु' एप डाउनलोड करने वालों के जो अलर्ट मिल रहे हैं, उन्हें सम्बन्धित जनपदों को भेजा जा रहा है। वहीं कन्ट्रोल रूम के जरिए जो लोग संक्रमित लोगों के सम्पर्क में आये हैं, उन्हें फोन करके इसकी जानकारी दे रहे हैं। अभी तक 38,054 लोगों को फोन किया जा चुका है। इनमें 104 लोग संक्रमित पाये जाने के कारण वर्तमान में विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं। 49 लोग इलाज के बाद ठीक होकर घर भेजे जा चुके हैं। 1,248 लोगों को एकांतवास केन्द्र (क्वारंटाइन सेंटर) में रखा गया है।  

3,278 हॉटस्पॉट में पहुंची स्वास्थ्य टीमें

प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के बीच पहुंचकर सर्वेश्रण कर रही हैं। अभी तक 3,278 हॉटस्पॉट और 9347 नॉट स्पॉट को मिलाकर कुल 12,625 इलाकों में 94,856 निगरानी समिति के माध्यम से 74,47,339 घरों में रह रहे 3,74,46,942 लोगों से सम्पर्क किया गया है। 

10,08,531 प्रवासी कामगारों का किया गया सर्वेश्रण

प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य ने बताया कि अब तक आशा कार्यकत्रियों द्वारा 10,08,531 प्रवासी कामगारों का सर्वेश्रण किया जा चुका है। इनमें 959 में कोई न कोई लक्षण मिलने पर उन्होंने इसकी सूचना दी, जिसके बाद जांच करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि अभी तक प्राप्त 297 रिपोर्ट में से 89 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। प्रमुख सचिव ने बताया कि आशा इन प्रवासी कामगारों का लक्षण के आधार पर बहुत अच्छी तरह पहचान कर रही हैं, जिसके बाद संदिग्धों के नमूनों भेजकर जांच करायी जा रही है।