चिन्मयानंद मामला : एसआईटी ने भाजपा नेता का लैपटॉप, पेनड्राइव जब्त की

शाहजहांपुर: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली कानून की छात्रा से संबंधित वसूली मामले में विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने भाजपा नेता डी.पी.एस. राठौर का लैपटॉप और एक पेनड्राइव जब्त कर ली है। माना जा रहा है कि घटना से संबंधित वीडियो क्लिप्स इसमें हैं। चिन्मयानंद द्वारा दर्ज वसूली मामले में संदिग्ध भूमिका के लिए राठौर से एसआईटी ने रविवार को 12 घंटों तक पूछताछ की थी।

राठौर जिला सहकारी बैंक का चेयरमैन है और राजस्थान के दौसा में भी मौजूद था जहां एसआईटी की टीम ने 30 अगस्त को मेंहदीपुर बालाजी मंदिर के निकट 23 वर्षीय छात्रा को बरामद किया था। छात्रा 24 अगस्त को लापता हो गई थी। कानून की छात्रा ने अपनी शिकायत में कहा था कि अजीत सिंह ने उससे पेन ड्राइव ले लिया था, जिसमें उसके यौन शोषण के सबूत हैं।

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष जे.पी.एस. राठौर के छोटे भाई राठौर ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि मैं प्रशासन का सहयोग करने की कोशिश कर रहा था, लेकिन लग रहा है कि एसआईटी को कुछ गलतफहमी हो गई थी। उन्होंने कहा कि मैं दौसा कुछ वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के आग्रह पर लापता छात्रा की तलाश में सहायता करने गया था।

डी.पी.एस. राठौर ने कहा कि उस समय उनके साथ एक अन्य भाजपा नेता अजीत सिंह थे। अजीत सिंह वसूली मामले के आरोपी विक्रम का साला है। इससे पहले शनिवार को एसआईटी टीम ने दादरौल विधानसभा से पूर्व विधायक डी.पी. सिंह को पूछताछ के लिए समन भेजा। एसआईटी के कुछ अधिकारियों ने भी कुछ तथ्यों की पुष्टि के लिए जिला जेल में बंद आरोपी से पूछताछ की।