लॉकडाउन को हटाने के लिए स्वास्थय मंत्रालय ने साफ की अपनी मंशा

नई दिल्लीः देश में 14 अप्रैल को लॉकडाउन समाप्त हो रहा है। इसकी समय-सीमा को लेकर चर्चाओं का माहौल गरमा गया है। लोगों में इसे लेकर उहापोह है, क्योंकि कुछ राज्यों ने इस समय-सीमा को बढ़ाने की अपील की है तो कुछ ने फैसला केंद्र सरकार पर छोड़ दिया है। इसी बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह स्पष्ट किया है कि लॉकडाउन के खत्म होने के लिए स्थिति देखकर कोई फैसला लिया जाएगा।

गौरतलब है कि जैसे-जैसे 14 अप्रैल की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे अफवाहों का बाजार भी गर्म होता जा रहा है। इसे लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गई हैं। इसके बावजूद केंद्र सरकार ने लॉकडाउन की अविध के समाप्त होने को लेकर कई राज्यों से सुझाव मांगे हैं कि 14 अप्रैल को खत्म होने वाली समय-सीमा को लेकर क्या किया जाए? इसके अलावा केंद्र की अधिकार प्राप्त मंत्रिसमूह की बैठक में भी इस बात को लेकर चर्चा हुई, लेकिन अभी तक कोई स्पष्ट निर्णय नहीं लिया जा सका है।

लॉकडाउन को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने स्पष्ट किया है कि लाॅकडाउन को खत्म करने पर अभी कोई विचार नहीं हुआ है। इस स्थिति को देखकर ही कोई फैसला लिया जाएगा। एक सवाल के जवाब में यह बताते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरे भारत में 21 दिन का लॉकडाउन है, जो 25 मार्च से शुरू हुआ था। उन्होंने कहा कि इस संबंध में केंद्र सरकार के मंत्रियों के अलावा राज्यों से भी विचार-विमर्श जारी है और सही समय आने पर स्थिति को देखकर ही फैसला लिया जाएगा।