डीएम ने कहा सड़कों पर घूमते दिखे तो होगी कड़ी कार्रवाई,एसपी ने लगाई क्लास

गोपालगंजः  लॉक डाउन का गोपालगंज जिले में पालन कराने के लिए जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को स्वयं बुधवार की रात 10 बजे से 12:00 बजे तक  सड़क पर उतरना पड़ा।लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए  दोऩों ने पूरे शहर का जायजा लिया। इस दौरान डीएम और एसपी ने सड़कों पर घूम रहे बाइक चालकों और कार चालकों पर सख्ती दिखाई। इस मौके पर डीएम और एसपी के अलावा सदर एसडीएम और सदर एसडीपीओ भी साथ थे। 

उन्होंने लोगों से लॉक डाउन के नियमों का पालन करने की अपील की। उन्होंने सख्त हिदायत दी कि बिना कारण घरों से निकलने पर कार्रवाई की जाएगी। मंगलवार की रात  प्रधानमंत्री श्री मोदी ने 8 बजे रात में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा  की तो  शहर की किराना दुकानों से लेकर सब्जी की दुकानों पर लोगों की भारी भीड़ जमा होने लगी थी। लोग अपने घर के सामान की खरीदारी के लिए दुकानों पर पहुंचने लगे थे। 

इसी सूचना के बाद डीएम और एसपी ने सुरक्षाबल के जवानों के साथ बुधवार को दुकानों का निरीक्षण किया और लोगों को धैर्य बनाए रखकर खरीदारी करने की सलाह देने के लिए सड़क और मोहल्ले में निकल पड़े। जिलाधिकारी ने बताया पीएम मोदी ने आह्वान किया है कि अगले 21 दिनों तक लॉकडाउन रहेगा।

जिला प्रशासन  लॉकडाउन को शत-प्रतिशत सफल बनाने के लिए लोगों को लगातार आगाह कर रहा है। लोग पीएम की बातेंं मानें और कोरोना वायरस से होने वाले खतरे को देखते हुए अपने घरों में ही रहें। उन्होंने कहा कि केवल आवश्यक सुविधाओं से संबंधित ही वाहन चलेंगे। 

नगर क्षेत्र में भी आवश्यक सुविधाओं से संबंधित वाहनों को छोड़कर अन्य वाहनों का संचालन बंद कराए जाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने जन सामान्य से अपील भी की है कि आवश्यक सुविधाओं से संबंधित वस्तुएं वह पैदल ही अपने मोहल्ले में जाकर खरीदें और उसके बाद अपने घर में ही रहेंं। अपने मोहल्ले में भी लोग घूमते हुए न दिखें।

जो नहीं मानेंगे उनके खिलाफ कानून के अंतर्गत कार्रवाई होगी।डीएम ने कहा कि रोजाना निर्धारित समय पर किराना, दवा, दूध,सब्जी और फल की दुकानें खुलेंगी। लोगों को किसी भी तरह के सामान की किल्लत नहीं होगी। उन्होंने जमाखोरी न करने की सलाह देते हुए कहा कि रोजाना इस्तेमाल होने वाली चीजों को बेवजह इकट्ठा न करें। जिले में किसी भी चीज की कमी नहीं होने दी जाएगी।