15 दिन पहले लौटे प्रवासी मजदूर की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या, इलाके में हड़कंप

चित्रकूटः कर्वी कोतवाली अन्तर्गत विनायकपुर गांव में शनिवार को होम कोरेनटाइन में रखे गये एक प्रवासी मजदूर की संदिग्ध परिस्थितियों में खेत में लाश मिलने से हडकंप मच गया। प्रवासी मजदूर की कुल्हाड़ी से हत्याकर लाश को खेत में फेंके जाने की आशंका जताई जा रही है। घटना के बाद से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। वहीं घटना की जानकारी मिलने पर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने अधीनस्थ अधिकारियों को जल्द से जल्द हत्यारों की गिफ्तारी कर घटना का खुलासा करने के निर्देश दिये है।

मिली जानकारी के मुताबिक जिले के कर्वी कोतवाली अन्तर्गत विनायकपुर गांव निवासी हेमराज सिंह (25) पुत्र स्व.राकेश सिंह सूरत (गुजरात) की एक साड़ी फैक्ट्री में काम करता था। कोरोना लॉकडाउन के फैक्ट्री में तालाबंदी होने के बाद हेमराज करीब 15 दिन पूर्व श्रमिक एक्सप्रेस से सूरत से चित्रकूट लौटा था। मुख्यालय के चित्रकूट इंटर कालेज कर्वी में स्वास्थ्य परीक्षण के बाद स्वास्थ्य महकमे ने हेमराज सिंह को 14 दिनों तक गांव में ही होम कोरेनटाइन रहने के निर्देश दिये थे। इसके बाद से वह गांव के बाहर स्थित स्कूल में गैर प्रांतों से आये कुछ और प्रवासी मजदूरों के साथ रह रहा था। शुक्रवार देर शाम से उसका कोई पता था। 

 शनिवार को विनायकपुर गांव निवासी जुगुलकिशोर सिंह के खेत में संदिग्ध परिस्थितियों में हेमराज सिंह की लाश मिलने से हड़कंप मच गया। वहीं घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चौधरी, क्षेत्राधिकारी रजनीश यादव और कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक अनिल कुमार सिंह को जल्द से जल्द हत्यारों की गिरफ्तारी कर घटना का खुलासा करने के निर्देश दिये है। 

पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने बताया कि मामले की जांच की जा रहीं है। धारदार हथियार से युवक की हत्या किये जाने का अंदेशा जताया जा रहा है। शव को पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही हत्या के सही कारणों का खुलासा हो सकेगा। बहरहाल घटना से जुडे सभी पहलुओं की गहनता से जांच की जा रहीं है। वहीं एसपी के निर्देश पर फोरेंसिक टीम और डाग स्क्वायड ने मौके पर पहुंचकर छानबीन शुरू कर दी है। वही हेमराज की हत्या की खबर के बाद से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। 

 मृतक के चाचा महेश सिंह का आरोप है कि उसका भतीजा सूरत की एक साड़ी फैक्ट्री में काम करता था। कोरोना लॉक डाउन के बाद वह चित्रकूट लौटा था। उसका किसी से कोई विवाद नहीं था। उन्होंने एकांतवास में साथ रहे हेमराज के साथियों पर विवाद के बाद कुल्हाड़ी से काट कर हत्या की आशंका जताई है। घटना के बाद से विनायकपुर समेत आस पास के इलाके में दहशत का माहौल है।