सीएम शिवराज के कथित वायरल ऑडियो से मचा बवाल, राज्यसभा सांसद बोले- अत्यंत शर्मनाक

भोपालः  मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान का एक कथित विवादित ऑडियो वायरल हुआ है। जिसके बाद प्रदेश की राजनीति में उफान आ गया है। इस ऑडियो क्लिप को लेकर राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ कांग्रेस नेता विवेक तन्खा ने शिवराज और भाजपा नेतृत्व पर निशाना साधा है। उन्होंने इसे संविधान और प्रजातांत्रिक मूल्यों की हार बताते हुए शर्मनाक बतलाया है। 

विवेक तन्खा ने कथित वायरल ऑडियो को लेकर बुधवार सुबह ट्वीट कर कहा है कि ‘यदि किसी भी सोर्स से प्राप्त यह ऑडियो सही है तो देश के लिए अत्यंत शर्मनाक है। केंद्र के षड्यंत्र से विपक्ष की राज्य सरकारें गिराना भाजपा की अल्प काल में जीत जरूर है मगर हमारे समविधान और प्रजातांत्रिक मूल्यों की हार है। पैसे के दम सरकारें बनाना या गिराना छोटी मानसिकता का प्रतीक। 

दावा किया जा रहा है यह बात उन्होंने दो दिन पहले इंदौर में सांवेर विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही थी। कहा जा रहा है कि रेसीडेंसी कोठी में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था मुख्यमंत्री चौहान ने कार्यकर्ताओं से यह भी पूछा कि अगर तुलसी सिलावट उप-चुनाव में विधायक नहीं बन पाए तो क्या वे मुख्यमंत्री रह पाएंगे, क्या प्रदेश में भाजपा की सरकार रह पाएगी? इस पर कार्यकर्ताओं ने जवाब दिया नहीं। 

मुख्यमंत्री के भाषण का कथित आडियो क्लिप तेजी से वायरल होने के बाद उनपर सियासी हमले तेज हो गए हैं। कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा और केंद्र सरकार को घेरा है। 

उल्लेखनीय है कि कथित वायरल ऑडियो में सीएम शिवराज कह रहे है कि केंद्रीय नेतृत्व ने तय किया कि ये सरकार गिरना चाहिए, ज्योतिरादित्य सिंधिया के बगैर सरकार गिर सकती थी क्या ?  और कोई तरीका नहीं था इसलिए पार्टी ने फैसला लिया है। फैसला प्रधानमंत्री जी का, अमित शाह का, नड्डा जी का, औऱ केंद्रीय नेतृत्व का था। देखना प्रधानमंत्री जी का फैसला गलत ना हो जाए।